नई दिल्ली. WhatsApp की पेरेंट कंपनी मेटा ने भारत में AI-पावर्ड चैटबॉट मेटा AI की टेस्टिंग को शुरू कर दिया है. अमेरिका में रिस्ट्रिक्टेड ट्रायल्स की शुरुआती फेज के बाद, मेटा भारत सहित कई देशों में WhatsApp पर मेटा AI-ड्रिवन चैटबॉट के लिए लिमिटेड टेस्टिंग के एक और फेज की शुरुआत कर रहा है.

WABteaInfo की रिपोर्ट के अनुसार, ये फीचर iOS और Android बीटा टेस्टर्स के लिए उपलब्ध है, जिन्होंने ऐप के लेटेस्ट बीटा वर्जन को इंस्टॉल किया है. मेटा एआई चैटबॉट को सर्च इंटरफेस से सीधे मेटा AI के साथ यूजर्स की बातचीत को सुविधाजनक बनाने के लिए सजेशन्स और प्रॉम्प्ट्स को इंटीग्रेट करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

ये भी पढ़ें: 22 हजार से कम में लॉन्च हुआ ये फोन, वायरलेस चार्जिंग सपोर्ट से है लैस, साथ है 108MP कैमरा और कर्व्ड डिस्प्ले भी

WhatsApp मौजूदा वक्त में नामित देशों में कुछ यूजर्स के लिए सर्च बार के भीतर मेटा AI इंटीग्रेशन को डिप्लॉय कर रहा है, जिन्होंने अपना ऐप अंग्रेजी में कॉन्फ़िगर किया है. इसके उलट, भारत में चुनिंदा यूजर्स के पास अब मेटा चैटबॉट को ऐप के टॉप बार से आसानी से एक्सेस कर सकते हैं और चैटबॉट से कन्वर्सेशन कर सकते हैं. इसके लिए यूजर्स को सर्च बार से Meta AI आइकन पर टैप करना होगा. इसके बाद यूजर्स OpenAI के ChatGPT या Google के Gemini की ही तरह चैटबॉट से बात कर सकते हैं.

आपको बता दें कि सर्च बार में दिया गया यूजर इनपुट प्राइवेट रखा जाता है और मेटा AI को डिस्क्लोज नहीं दिया जाता. मेटा एआई द्वारा सर्च बार या मेटा AI कन्वर्सेशन के जरिए रिकमंडेड सब्जेक्ट्स लगातार रैंडम तरीके से जनरेट होते हैं और यूजर-स्पेसिफिक डिटेल्स से अप्रभावित होते हैं. गौर करने वाली बात ये है कि सर्च बार अभी भी अपने प्राइमरी काम के लिए बना हुआ है, जिससे यूजर्स ऐप के भीतर चैट, मैसेज, मीडिया और कॉन्टैक्ट्स को सर्च कर सकते हैं.

Tags: Tech news, Whatsapp, WhatsApp Features



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *