नई दिल्ली. दुनिया की दिग्गज टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने इतिहास रच दिया है. दरअसल, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) के सहारे माइक्रोसॉफ्ट ने सप्ताह का अंत 3.125 ट्रिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ किया, जो अब तक किसी भी कंपनी के लिए सबसे ज्यादा है. कंपनी का मार्केट वैल्यू ऐपल (Apple) द्वारा निर्धारित पिछले रिकॉर्ड में सबसे ऊपर है, जो जुलाई में 3.09 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया था. ऐपल शुक्रवार को 2.916 ट्रिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ समाप्त हुआ.

बैरन (Barron) की रिपोर्ट के मुताबिक, माइक्रोसॉफ्ट 3.1 ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा मार्केट कैप के साथ बंद होने वाली पहली अमेरिकी कंपनी भी है. माइक्रोसॉफ्ट का स्टॉक सप्ताह के अंत में 420.55 डॉलर पर बंद हुआ.

ये भी पढ़ें- बिल गेट्स को पछाड़ दुनिया के चौथे सबसे अमीर शख्स बने मार्क जुकरबर्ग, एक झटके में 28.1 अरब डॉलर बढ़ी संपत्ति

एक साल में 60 फीसदी चढ़ा है Microsoft
न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, पिछले 12 महीनों में कंपनी के शेयरों में 60 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जिसका मुख्य कारण इसके आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सॉफ्टवेयर को लेकर उत्साह है.

AI को बड़े पैमाने पर लागू करने की ओर बढ़ चुकी है कंपनी
कंपनी ने पिछले महीने वॉल स्ट्रीट के पूर्वानुमानों से पहले तिमाही रेवेन्यू और प्रॉफिट की सूचना दी और मैनेजमेंट ने कंपनी के एआई गेन पर ध्यान दिया. माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने उस समय एक बयान में कहा था, “हम एआई के बारे में बात करने से लेकर एआई को बड़े पैमाने पर लागू करने की ओर बढ़ गए हैं.”

भारतवंशी सत्या नडेला ने Microsoft के सीईओ के रूप में पूरे किए 10 साल
बता दें कि भारतीय मूल के सत्या नडेला ने हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ के रूप में अपना दसवां साल पूरा किया है. इस दौरान उन्होंने क्लाउड कंप्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर फोकस कर धीमी गति से चलने वाली सॉफ्टवेयर कंपनी को सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बना दिया. नडेला ने साल 2014 में कंपनी की कमान संभाली थी.

Tags: Apple, Microsoft, Satya Nadella



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *