अप्रैल का महीना चल रहा है और अभी से ही देश के अधिकतम इलाकों में पारा हाई होने लगा है. गर्मियां आते ही कई इलाकों में तापमान 40-43 डिग्री तक पहुंच जाता है. गर्मियों की दस्तक के साथ ही बाजार में एयर कंडीशनर (AC) की डिमांड भी बढ़ गई है. आमतौर पर एक साधारण एसी खरीदने में लगभग 30-35 हजार रुपये खर्च हो जाते हैं, लेकिन एसी घर लाते समय आपको अपनी जेब थोड़ी और ढीली करनी पड़ती है. यहां हम बिजली के बिल या मेंटेनेंस की बात नहीं कर रहे, बल्कि एसी लगवाते समय एक ऐसे खर्च के बारे में बता रहे हैं जिसे आपसे छुपाया जाता है या आपको इसके बारे में पता नहीं होता.

अगर आप एसी लगवाने की सोच रहे हैं तो आपको एसी के खर्च के अलावा उसे इनस्टॉल करने के लिए 2,500 रुपये से 3,000 रुपये का एक्स्ट्रा चार्ज भी भरना पड़ता है. फिर चाहे आप एसी फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी ई-कॉमर्स साइट से खरीदें या कंपनी की रिटेल स्टोर से या फिर किसी दूसरे कॉमन रिटेलर से, इस खर्च से आपको राहत नहीं मिलने वाली है.

भारी इंस्टाॅलेशन चार्ज वसूलती हैं कंपनियां
दरअसल, एसी की भारी डिमांड के वजह इंस्टॉलेशन और सर्विस चार्ज में भारी बढ़ोतरी कर दी गई है. देखा जाए तो अब एसी बनाने वाली ज्यादातर कंपनियों ने एसी के पैकेज के साथ मिलने वाले महत्वपूर्ण उपकरणों को देना बंद कर दिया है. इसके बजाय कंपनियां इन उपकरणों के लिए ग्राहकों से अलग से पैसे वसूल रही हैं या फिर ग्राहकों को इन्हें बाहर से खरीदना पड़ रहा है. कंपनियों ने इन उपकरणों को इंस्टाॅलेशन पैकेज में शामिल कर दिया है जिसे ग्राहकों को अलग से खरीदना पड़ता है.

ऐसे समझें इंस्टॉलेशन चार्ज का गणित
दरअसल, एसी खरीदने में लगने वाले अतिरिक्त खर्च (Extra Charges) के बारे में आपको तब पता चलता है जब आप एसी खरीद लेते है. ये छुपा हुआ खर्च (Hidden Cost) आपको कंपनी या डीलर पहले नहीं बताते. इसमें एसी के साथ लगने वाले एक्स्ट्रा कॉपर पाइप, वाटर पाइप, हैंगर, वायर और डिलीवरी आदि का खर्च शामिल होता है. आप इसे ऐसे समझ सकते हैं:

डिलीवरी चार्ज: डीलर एसी को आपके घर तक पहुंचाने के लिए 300 से 500 रुपये का खर्च जोड़ते हैं. अगर आप एसी ऑनलाइन खरीदते हैं तो डिलीवरी चार्ज से बचा जा सकता है.

इंस्टॉलेशन चार्ज: कंपनी के सर्विस एजेंट एसी इंस्टालेशन के लिए 1,100 से 1,500 रुपये का चार्ज लेते हैं. इसमें 18% का जीएसटी अलग से जोड़ा जाता है.

वॉल माउंट: स्प्लिट एसी के आउटडोर यूनिट को दिवार पर फिक्स करने के लिए वॉल माउंट लगाया जाता है. इसके लिए भी ग्राहकों को तकरीबन 850 रुपये चुकाने पड़ते हैं.

कॉपर पाइप: कंपनियां 3 मीटर तक मुफ्त में इंसुलेटेड कॉपर पाइप देती हैं. अधिक पाइप की जरूरत पड़ने पर प्रति 3 मीटर पाइप के लिए आपसे 4,500 रुपये तक चार्ज किया जा सकता है.

ड्रेनेज पाइप: प्लास्टिक के ड्रेनेज पाइप के लिए ग्राहक को 500 रुपये देने पड़ते हैं.

पॉवर प्लग: कंपनियों ने केबल के साथ मिलने वाले पॉवर प्लग को भी हटा दिया है. बाजार में पॉवर प्लग 100-150 रुपये का आता है.

एयर कंडीशनर इन्स्टॉल करते समय ज्यादातर ग्राहकों को एक्स्ट्रा कॉपर पाइप की जरूरत नहीं पड़ती, लेकिन ड्रेनेज पाइप, पॉवर प्लग और वॉल माउंट पर 3,200 रुपये का अतरिक्त खर्च आ जाता है. ज्यादातर ग्राहक ब्रांड इंस्टालेशन का विकल्प चुनते हैं, क्योंकि चिंता होती है कि अगर वे लोकल वेंडर से अपना नया एसी लगवाएंगे तो वारंटी खत्म हो जाएगी.

Tags: Air Conditioner, Summer, Tech news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *